लखीमपुर दुष्कर्म मामला : पुलिस ने कहा, आंख फोड़ने और जीभ काटने का आरोप गलत

पोस्टमार्टम रिपोर्ट में सामने नहीं आई जीभ काटने और आंख फोड़ने वाली बात- पुलिस

0

लखीमपुर खीरी: लखीमपुर खीरी दुष्कर्म मामले (Lakhimpur Kheri misdemeanor case) में एक नया मोड़ आया है। पुलिस ने इस बात से इनकार किया है कि शुक्रवार को दुष्कर्म किए जाने के बाद गला घोंटकर मार दी जाने वाली 13 वर्षीय पीड़िता के आंख को फोड़ा गया था और उसके जीभ को काटा गया था। लखीमपुर खीरी के पुलिस अधीक्षक सत्येंद्र कुमार (Superintendent of Police Satyendra Kumar) ने कहा कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में ऐसा कुछ भी नहीं था, जिससे यह पता चले की 13 वर्षीय लड़की (13 year old girl) के आंख को फोड़ा गया है या फिर जीभ को काटा गया है।

एसपी ने कहा, “उसके आंख के पास कुछ निशान थे, जो गन्ने के पत्तों की वजह से हो सकते हैं। उसका जीभ कटा हुआ नहीं था।” 
उन्होंने कहा कि बच्ची की पोस्टमार्टम रिपोर्ट से पुष्टि हुई कि उसके साथ दुष्कर्म किया गया था और उसका गला घोंटा गया था। हालांकि पुलिस ने कहा कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट से यह नहीं पता चला कि उसके आंख को फोड़ा गया था और जीभ को काटा गया था।

एसपी सत्येंद्र कुमार ने कहा कि पुलिस ने दो आरोपियों के खिलाफ हत्या और सामूहिक दुष्कर्म का मामला दर्ज किया है। दोनों के खिलाफ नेशनल सिक्युरिटी एक्ट के तहत भी मामला दर्ज किया जाएगा।

पीड़िता के पिता ने आरोप लगाया था कि उसके बच्ची आंख को फोड़ दिया गया है और जीभ को काटा गया है।

समाजवादी पार्टी (SP) के अध्यक्ष अखिलेश यादव (President Akhilesh Yadav) ने एक ट्वीट में कहा कि महिलाओं के खिलाफ अपराध सबसे ज्यादा बढ़ गया है। उन्होंने कहा कि नाबालिग के साथ दुष्कर्म और जघन्य हत्या मानवता को शर्मसार करने के लिए काफी है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: