Kisan Mhasabha:पीएम मोदी विदेश जा सकते हैं, पर दिल्ली में बैठे किसानों से नहीं मिल सकते: प्रियंका गांधी

0

Kisan Mhasabha: कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Vadra)ने सोमवार को बिजनौर में किसान महासभा (Kisan Mhasabha)को संबोधित करते हुए भाजपा पर हमला बोला। उन्होंने किसानों से  पूछा कि मोदी सरकार (Modi Government)में क्या किसानों की आय दोगुनी हुई? प्रियंका ने कहा माना कि सरकार ने भलाई के लिए ये कानून बनाए हैं, पर जब ये कानून हम चाहते ही नहीं तो सरकार कानून वापस ले। प्रियंका ने कहा, क्या मोदी सरकार जबरदस्ती किसानों की भलाई करेगी।

प्रियंका ने मोदी (Kisan Mhasabha) सरकार को बतायाअंकारी

 

कांग्रेस रास्ट्रीय महासचिव ने(Priyanka Gandhi) कहा  मैं यहां भाषण देने नहीं आई हूं, आपसे बातचीत करने आई हूं। किसान महासभा (Kisan Mhasabha) मेंउन्होंने कहा आपको इस बात की उम्मीद होती है कि वो नेता आपकी समस्याओं को उठाएगा और आपकी बात की सुनवाई होगी। उन्होंने किसानों से कहा आप हमें बनाते हैं। आप और हमारे बीच भरोसे का रिश्ता है और उसी रिश्ते के बल पर आप एक नेता को आगे बढ़ाते हैं।

पीएम अमेरिका, चीन और पाकिस्तान जा सकते हैं, लेकिन दिल्ली में बैठे किसानों से नहीं मिल सकते हैं: प्रियंका गांधी(Kisan Mhasabha)

 

प्रियंका गांधी ने किसान महासभा में सवाल किया कि 2017 से यहां गन्ने का मूल्य ही नहीं बढ़ा है। पीएम मोदी ने किसानों का बकाया पूरा नहीं किया, लेकिन अपने लिए 16 हजार करोड़ में हवाई जहाज खरीद लिया है।

ये भी पढ़े-किसानों के समर्थन में गाजीपुर बॉर्डर पहुंचे हरीश रावत

उन्होंने किसानों से बात करते हुए कहा कि जनता ने मोदी को दो-दो बार क्यों पीएम बनाया। प्रियंका ने कहा लोगों के मन में भरोसा रहा होगा कि वो आपके लिए काम करेंगे। उन्होंने कहा पहली बार मोदी की सरकार आई तो बड़ी बड़ी बातें हुईं।

Kisan Mhasabha

प्रियंका (Priyanka Gandhi Vadra) ने किसनों (Kisan Mhasabha) को संबोधित करते हुए कहा कि पीएम मोदी अमेरिका, चीन और पाकिस्तान जा सकते हैं, लेकिन दिल्ली में बैठे किसानों से नहीं मिल सकते हैं। पीएम मोदी ने किसानों का मजाक उड़ाया और उन्हें आंदोलनजीवी और परजीवी बताया। मोदी जी देशभक्त और देशद्रोही में फर्क नहीं पहचान पाए।

सरकार को अहंकारी बताते हुए प्रियंका गांधी ने कहा नेता दो तरह के होते हैं, कुछ ऐसे होते हैं जिन्हें बहुत अहंकार हो जाता है, वह भूल जाते हैं कि उन्हें सत्ता देने वाला कौन है। देश के इतिहास में बार-बार ऐसा हुआ है जबकि नेता को अहंकार होने पर देशवासी उसे सबक सिखाते हैं। और जब देशवासी उसे सबक सिखाते है तब वह शर्मिंदा होता है, वह समझता है कि उसका धर्म क्या था।

खबरों के साथ बने रहने के लिए प्रताप किरण को facebook Page पर फॉलों करने के लिए यहां क्लिक करें।

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: