Khazani Institute Fashion show: 15वें एनुअल फंक्शन पर खजानी इंस्टिट्यूट में दिखा छात्राओं का हुनर, फैशन शो का किया गया आयोजन

0

Khazani Institute Fashion show: 15वें एनुअल फंक्शन पर खजानी इंस्टिट्यूट ने अपने इंस्टीट्यूट की महिलाओं और युवतियों के हुनर को मंच देने के लिए एक फैशन शो का आयोजन किया। कार्यक्रम का आरंभ निर्णायक मंडल के सदस्य रचना बैजल, रेखा माहेश्वरी, अनुराधा माहेश्वरी, निधि शर्मा, रश्मि खंडेलवाल ,तृप्ति माहेश्वरी, शिल्पी किशोरया और रौनक माहेश्वरी के द्वारा दीप प्रज्वलित कर किया गया।

Khazani Institute Fashion show: आजादी के अमृत महोत्सव को समर्पित था कार्यक्रम

Khazani Institute Fashion show
Khazani Institute Fashion show

आजादी के अमृत महोत्सव को समर्पित करते हुए अभिव्यक्ति के नाम से यह फैशन शो आयोजित किया गया था। जिसमे अलग-अलग उत्सवों  जैसे जन्माष्टमी , हरियाली तीज , गोवा ,ईद, डांडिया, दीपावली, कार्निवाल, दुर्गा पूजा, न्यू ईयर  और क्रिसमस की झलकियां देखने को मिली। जिसका उद्देश्य अनेकता मैं एकता और  पूरब से पश्चिम उत्तर से दक्षिण तक भारत वर्ष मैं मनाए जाने वाले प्रमुख त्योहार और उनको पहनावे के माध्यम से रैंप वॉक के माध्यम से प्रदर्शित करना रहा ।

Khazani Institute Fashion show: डायरेक्टर शिप्रा राठी थीं कार्यक्रम में मौजूद

डायरेक्टर शिप्रा राठी ने बताया कि  सर्वप्रथम हमने विषय का चुनाव किया जिस पर हमें यह फैशन शो आयोजित करना था और  इस साल समस्त भारतवर्ष अपनी आजादी के 75 वर्षों का उत्सव माना रहा है तो इसी को ध्यान में रखते हुए आजादी के अमृत महोत्सव को अपना विषय चुना गया।

सोच यही थी कि  इसमें हम  दिखाएं दिखाए  इसके लिए हमने हमारे हर धर्म और सम्प्रदाय के अलग-अलग होने वाले उत्सवों की झलकियां प्रस्तुत करने का सोचा और  इस फैशन शो के लिए दो महीनों से छात्राओं  ने बहुत मेहनत की क्योंकि भारत उत्सव का देश है और महिलाओं को विशेष रूप से हर उत्सव पर अलग-अलग प्रकार के परिधान पहनने का बहुत शौक होता है।

ये भी पढ़ें- Birbhum Violence Update: बीरभूम हिंसा मामले की हो रही है सीबीआई से जांच कराने की मांग

किसी भी त्यौहार के आने पर उनका पहली सोच यही होती है की इस बार क्या नया पहना जाए। इसी सोच को पहचान देने हेतु इस प्रकार के  फैशन शो को  आयोजित किया गया जहां पर उनको अलग-अलग उत्सव के अनुरूप परिघान का चयन किया और परिघानो के साथ-साथ प्रतिभागियो ने स्वयं अपने हाथों से आभूषणों का भी निर्माण किया जो उन्होंने  परिघानो के साथ पहने जो उनके परिघान को पूर्णता प्रदान कर रहे थे।

एक बेहद कठिन चुनौती को स्वीकार करते हुए खजनी परिवार ने अपनी ही  छात्राओं को कैट वॉक करने की ट्रेनिंग दी और  मंच पर उतारा।
सभी छात्राएं जिन्होंने आज यहां पर भाग लिया उन्होने पहली बार मंच पर अपनी की प्रस्तुति दी  जो एक अनूठा प्रयास था।
आज हुए कार्यक्रम के बारे मैं खजानी विमेंस इंस्टीट्यूट की डायरेक्टर शिप्रा राठी और कार्यक्रम मैं भाग लेने वाली युवतियों और महिलाओं ने बताया।

खबरों के साथ बने रहने के लिए प्रताप किरण को फेसबुक पर फॉलों करने के लिए यहां क्लिक करें।

Leave A Reply

Your email address will not be published.