कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत ने सातवें दिन भी जीते मेडल

0

बर्मिंघम में कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत ने सातवें दिन भी मेडल पर अपना हक़ बनाये रखा। गुरुवार को भारत दो मेडल जीत सका। मैडल टैली सूची में भारत सातवें स्थान पर है।

सातवें दिन के समापन तक भारत के खाते में एक गोल्ड और एक सिल्वर मेडल आया। अब भारत कुल 20 मैडल बटोर चुका है जिसमे जिसमें 6 गोल्ड, 7 सिल्वर और 7 ब्रॉन्ज हैं।

सातवें दिन भारत के लिए मुरली श्रीशंकर ने इतिहास रचा। मुरली ने लंबी कूद में सिल्वर मेडल अपने नाम किया। देश के लिए इस प्रतियोगिता में पदक जीतने वाले श्रीशंकर पहले खिलाड़ी हैं। पैरा पावरलिफ्टिंग में सुधीर ने गोल्ड मेडल अपने नाम किया। सुधीर भी पावरलिफ्टिंग में भारत को गोल्ड दिलाने वाले पहले खिलाड़ी बने।

कॉमन वेल्थ गेम के सातवें दिन भारत की तरफ से सागर अहलावत, अमित पंघाल जैसमीन और रोहित टोकस अपने अपने वर्ग की स्पर्धा के सेमीफाइनल में जगह बनाई। हरियाणा के 22 वर्षीय सागर ने पुरूषों के सुपर हेवीवेट (+91 किग्रा) वर्ग के क्वार्टरफाइनल में सेशेल्स के केडी इवांस एग्नेस को 5-0 से शिकस्त दी।

जैसमीन ने महिलाओं के लाइटवेट (60 किग्रा) वर्ग के क्वार्टर फाइनल में न्यूजीलैंड की ट्राय गार्टन को सख्त मुकाबले में 4-1 के विभाजित फैसले में परास्त किया। निकहत जरीन (50 किग्रा), नीतू गंघास (48 किग्रा) और मोहम्मद हुसामुद्दीन (57 किग्रा) के अपने वर्गों में पदक पक्के करने के एक दिन बाद गोल्ड कोस्ट में पिछले चरण के रजत पदक विजेता पंघाल ने फ्लाईवेट (48-51 किग्रा) क्वार्टर फाइनल में स्कॉटलैंड के लेनोन मुलीगन के खिलाफ जीत दर्ज की।

Leave A Reply

Your email address will not be published.