बारिश और बाढ़ से देश बेहाल

दिल्ली-एनसीआर सहित उत्तर-पश्चिम भारत में व्यापक स्तर पर बारिश होने की संभावना

0
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push(});

इस वक्त देश जहां एक ओर कोरोना महामारी से जूझ रहा है तो वहीं दूसरी ओर बिहार असम समेत अन्य कई राज्य भारी बारिश और बाढ़ से बेहाल हैं। बता दें आज भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) दिल्ली और उसके आसपास के इलाको में हल्की बारिश की संभावना जताई है।

मौसम विभाग के मुताबिक, दिल्ली-एनसीआर में आज भी कुछ इलाको में रुक रुक कर हल्की बारिश हो सकती है। साथ ही 28-29 जुलाई को दिल्ली-एनसीआर समेत उत्तर-पश्चिम भारत में भारी बारिश की संभावना है। कोंकण गोवा और कर्नाटक के अन्य तटीय इलाकों में भी आने वाले 2 से 3 दिनों में बारिश होने की संभावना है।

बिहार में कोसी, गंडक समेत अन्य सहायक नदियां बिहार उफान पर हैं और कई स्थानों पर खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं। बाढ़ का पानी नए इलाकों में प्रवेश कर रहा है, जिससे लोगों की परेशानी बढ़ गई है। बिहार के 17 जिलों जिसमे किशनगंज, अररिया, कटिहार, पूर्णिया, सुपौल, मधुबनी, सीतामढ़ी, दरभंगा, पूर्वी चम्पारण, पश्चिम चम्पारण, शिवहर, गोपालगंज, मुजफ्फरपुर, सहरसा, मधेपुरा, समस्तीपुर और खगड़िया में आज से 29 जुलाई तक बारी बारिश का अलर्ट जारी किया है।

असम की हालत बाढ़ से सबसे ज्यादा प्रभावित है। यहां 23 जिले बाढ़ से प्रभावित हो चुके हैं। पूरे राज्य में 25 लाख लोग बाढ़ से प्रभावित हैं और पांच और लोगों की मौत बाढ़ के कारण हो गई है। असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण रिपोर्ट के मुताबिक बारपेटा और कोकराझार जिलों में दो-दो लोगों की मौत के साथ ही मोरीगांव जिले में एक शख्स की मौत हुई है। वहीं असम कई इलाकों में बाढ़ के साथ ही भूस्खलन की वजह से भी 26 लोगों की मौत हो चुकी है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: