गहलोत ने पायलट पर लगाया MLA की खरीद फरोख्त का आरोप

सचिन को सियासी मैदान से आउट करने की फिराक में गहलोत

0
अशोक गहलोत (Ashok Gahlaut) ने सचिन पायलट (Sachin Pilot) को सियासी पिच पर आउट करने और पवेलियन भेजने की मानो पूरी तैयारी कर ली है। राजस्थान (Rajasthan) के राजनीतिक महासंग्राम में अशोक गहलोत ने सचिन पायलट पर गंभीर आरोप लगाया है। गहलोत ने सीधे तौर पर सचिन पायलट पर विधायकों (MLA) की खरीद-फरोख्त कर सरकार गिराने का आरोप लगाया है। गहलोत ने खुद के पास सबूत रहने की भी बात कही है।

अशोक गहलोत के सचिन पायलट पर लगाए आरोप के बाद सियारी पारा अपने चरम पर पहुंच गया है। कांग्रेस के खेमें में गंभीरता छाई हुई है क्योंकि अबतक सचिन पायलट ये कहते नजर आ रहे थे कि उन्होंने पांच साल मेहनत की थी और सीएम पद पर कब्जा अशोक गहलोत ने जमा लिया। सचिन पायलट की मेहनत की हर कोई तारीफ कर रहा है। वो लगातार एक विक्टिम के तौर पर भी खुद को पेश करते रहे हैं।

मीडिया को दिये एक इंटरव्यू में सचिन पायलट ने कहा कि मैं अशोक गहलोत से नाराज नहीं हूं लेकिन मुझे कुछ काम ही नहीं करने दिया जाता, मेरे पास फाइलें नहीं आने दी जाती।

इसके अलावा पायलट ने ये भी कहा कि उन्होंने राहुल गांधी के कहने पर अशोक गहलोत को मुख्यमंत्री (CM) स्वीकार किया, पायलट ने सीएम पद पर अपनी दावेदारी के पीछे तर्क दिया कि उन्होंने पार्टी को बहुत नीचे से उठाकर सत्ता तक पहुंचाया, लेकिन सरकार बनते ही उन्हें एक किनारे कर दिया गया।

इस तरह के बयानों के साथ सचिन विक्टिम के रूप में खुद को पेश कर रहे हैं और दोनों पद छीने जाने के बाद भी ये कह रहे हैं कि वो कांग्रेस में हैं। फिलहाल कांग्रेस की तरफ से अब भी उन्हें वापस आने का न्योता दिया गया है। राजस्थान के कांग्रेस प्रभारी अविनाश पांडेय ने कहा है कि सचिन पायलट के लिए अब भी दरवाजे खुले हैं।

वहीं अशोक गहलोत मीडिया के सामने बीजेपी के केंद्रीय नेतृत्व के साथ ही सचिन पायलट पर सीधा अटैक किया। गहलोत ने कहा कि दिल्ली में बैठे लोग सरकार गिराने की साजिश कर रहे हैं और लोकतंत्र के साथ हो रहे इस खिलवाड़ में सचिन पायलट खुद शामिल हैं। सचिन पायलट खुद विधायकों की खरीद-फरोख्त करा रहे थे। अशोक गहलोत के इस तेवर ये साफ जाहिर होता है कि वो सचिन पायलट को सियासी मैदान से आउट करने की फिराक में हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: