जी-7 देशों ने की रूस की निंदा करते हुए यूक्रेन के सहयोग की बात कही

0

जर्मनी में हो रही जी-7 देशों की बैठक में मौजूद सभी नेताओं ने कहा कि वे सब यूक्रेन के साथ हैं। दूसरे दिन बैठक के बाद सभी देशों ने एक साझा बयान जारी किया। जिसमें बेलारूस को रूसी परमाणु मिसाइल ट्रांसफर करने को ‘गंभीर चिंता’ करार दिया गया है। जी-7 में शामिल नेताओं ने स्पष्ट किया कि वे रूस के खिलाफ लगाए गए प्रतिबंधों को आगे भी जारी रखेंगे। साथ ही जी-7 नेताओं ने यूक्रेन को 29.5 बिलियन अमरीकी डालर के समर्थन का वादा किया है।

यूक्रेन के राष्ट्रपति वलोडिमिर जेलेंस्की के साथ एक सत्र के दौरान इटली के प्रधानमंत्री मारियो ड्रैगी ने नेताओं से युद्ध के मुद्दे पर हम यूक्रेन के साथ हैं।

संयुक्त बयान में जी-7 नेताओं ने रूस के यूक्रेन पर हमले को अकारण और अनुचित बताते हुए उसकी निंदा की। जी-7 नेताओं ने संयुक्त बयान में कहा कि हम रूस और बेलारूस द्वारा सहायता प्राप्त यूक्रेन के खिलाफ क्रूर, अकारण, अन्यायपूर्ण और अवैध आक्रमण की निंदा करते हैं।

जी-7 कनाडा, फ्रांस, जर्मनी, इटली, जापान, ब्रिटेन और अमेरिका का अंतर-सरकारी राजनीतिक समूह है। इस शिखर सम्मेलन की मेजबानी जर्मनी G7 के अध्यक्ष के रूप में कर रहा है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.