5 राज्यों में बाढ़ का कहर, केरल में 52 मौतें, UP के 517 गांव बाढ़ प्रभावित

पांच राज्यों में बाढ़ के रौद्र रूप से मचा कोहराम

0
देश के पांच राज्यों (5 State) में बाढ़  के रौद्र रूप से कोहराम मचा हुआ है। एक तरफ जहां यूपी में करीब 517 गांव बाढ़ प्रभावित हैं तो वहीं 250 से ज्यादा गांवों के संपर्क कट गए है। बाढ़ ने बिहार और केरल के लोगों का सबकुछ बर्बाद कर दिया है लोग दो जून की रोटी को तरस रह हैं।

उत्तर प्रदेश, बिहार, असम, केरल और कर्नाटक में आसमान से बरस रही आफत ने बाढ़ (Flood) का तूफान ला दिया है। इन राज्यों में बाढ़ के सैलाब ने सबकुछ तबाह कर दिया है। राजस्थान के जयपुर में भी भारी बारिश से सड़क पर जल जमाव हो गया है। मौसम विभाग के मुताबिक आज यानी बुधवार को दिल्ली और आसपास के इलाकों में तेज बारिश हो सकती है। वहीं, मुंबई के तटीय इलाकों में 15 अगस्त तक भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है।

केरल में मौत का सिलसिला

केरल के इडुक्की जिले में भूस्खलन की वजह से मरने वालों की संख्या बढ़कर 52 हो गई है, अधिकारियों के मुताबिक इडुक्की में दो पुरुषों और एक महिला का शव मलबे से बरामद हुआ है. अधिकारियों ने बताया कि राजामाला के निकट पेट्टीमुडी में NDRF, अग्निशमन और पुलिस विभाग के कर्मी लापता 19 लोगों की तलाश के काम में जुटे हैं। ये लोग 7 अगस्त से लापता है।

टूट गया 150 साल पुराना चर्च

इस बीच, इडुक्की जिले के मुल्लापेरियार बांध में जलस्तर मंगलवार को 136.85 फुट पर पहुंच गया है. केरल में करीब 150 साल पुराना चर्च धराशायी हो गया. वहीं पूरे इलाके में पानी के सिवा कुछ नजर नहीं आ रहा है. घरों में पानी घुस चुका है. केरल के कोट्याम में भी बाढ़ ने हालात बेकाबू कर दिए हैं, जिसके बाद बोट सर्विस पर रोक लगा दी गई है।

मुंबई में भारी बारिश का अलर्ट

भारतीय मौसम विभाग (IMD) ने बुधवार को तेज बारिश होने की संभावना है जताई है।  आईएमडी के अनुसार मुंबई समेत तटीय महाराष्ट्र के कुछ स्थानों पर 15 अगस्त तक भारी बारिश का अनुमान है।

बिहार में बाढ़ से 75 लाख लोग प्रभावित

सबसे ज्यादा बाढ़ ने बिहार में कहर बरपाया है। यहां बाढ़ से हालात बद से बदतर होते जा रहे हैं। राज्य आपदा प्रबंधन विभाग के अनुसार बाढ़ से 16 जिलों में 62,000 और लोग प्रभावित हुए हैं। इस तरह अब तक 75 लाख से अधिक लोग बाढ़ का संकट झेल चुके हैं। वहीं लगातार बारिश से विधानसभा परिसर में पानी भर गया है। बिहार की ज्यादातर नदिया खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं।

असम में 89 गांव जलमग्न

असम के 3 जिलों में करीब 14,000 लोग अब भी बाढ़ से जूझ रहे हैं। सबसे बुर हालात  धेमाजी का है जहां 12,000 से अधिक लोग पीड़ित हैं जिसके बाद बकसा में 1,000 और मोरीगांव में 800 से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं. असम में इस साल बाढ़ और भूस्खलन से अब तक 136 लोगों की जान जा चुकी है जिनमें 110 लोग बाढ़ से जुड़ी घटनाओं में मारे गए और 26 लोगों की मौत भूस्खलन में हो गई। प्राधिकरण के अनुसार इस समय 89 गांव जलमग्न हैं और पूरे राज्य में 5,984 हेक्टेयर खेतों में खड़ी फसल बर्बाद हो गई है।

जयपुर में सड़कों पर भरा पानी

राजस्थान में पिछले 24 घंटे के दौरान पूर्वी और पश्चिमी इलाकों के कुछ भागों में मध्यम और कुछ भागों में भारी बारिश दर्ज की गई। राजधानी जयपुर के कई हिस्सों में देर शाम शुरू हुई बारिश का दौर देर रात तक जारी रहा। बारिश के बाद यहां सड़कों पर जलभराव हो गया जिससे लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा. विभाग ने आगामी 24 घंटों के दौरान भरतपुर, भीलवाडा, बूंदी, दौसा,धौलपुर, करौली, कोटा, राजसमंद, उदयपुर जिलों में कुछ स्थानों पर भारी बारिश का अनुमान जताया है.

UP के 517 गांव बाढ़ से बेहाल, 268 गांव का संपर्क टूटा

यूपी के 16 जिलों में 517 गांव बाढ़ से प्रभावित हैं। वहीं राहत आयुक्त ने बताया कि प्रदेश में बाढ़ की स्थिति में कुछ सुधार आया है और सोमवार तक प्रदेश में जहां 19 जिले बाढ़ से प्रभावित थे वहीं अब इनकी संख्या घटकर 16 रह गई है। इस वक्त प्रदेश के अंबेडकर नगर, अयोध्या, आजमगढ़, बहराइच, बलिया, बलरामपुर, बाराबंकी, बस्ती, देवरिया, गोंडा, गोरखपुर, लखीमपुर खीरी, कुशीनगर, मऊ, संत कबीर नगर और सीतापुर जिलों के 517 गांव बाढ़ से प्रभावित हैं। यूपी के 268 गांवों का संपर्क बाढ़ की वजह से बाकी स्थानों से कट गया है

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: