Environmental Protection Program: केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने किया विवेकानंद सस्टेनेबिलिटी समिट का उद्घाटन

Environmental Protection Program: केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने देश में हो रहे सस्टेनेबल डेवलपमेंट के प्रयासों को किया प्रोत्साहित

0

Environmental Protection Program: पर्यावरण सुरक्षा और सस्टेनेबल डेवलपमेंट की मुहीम को तेज और प्रभावशाली बनाने के उद्देस्य से  विवेकानंद सस्टेनेबिलिटी समिट के प्रथम संस्करण का भव्य आयोजन हुआ। डॉ अंबेडकर अंतर्राष्ट्रीय केंद्र, नई दिल्ली में 19 और 20 अप्रैल, 2022 को आयोजित हुए इस दो दिवसीय राष्ट्रीय शिखर सम्मेलन से देश में सस्टेनेबल डेवलपमेंट को प्राप्त और लागू करने के लिए किए जा रहे तमाम प्रयासों को वैश्विक मंच मिलेगा जहाँ प्रतिष्ठित व्यक्तियों, विशेषज्ञों और विचारकों के विचार आदान-प्रदान किया गया

Environmental Protection Program: केंद्रीय मंत्री, नितिन गडकरी ने किया शिखर सम्मेलन का उद्घाटन

Environmental Protection Program
Environmental Protection Program

ये भी पढ़ें- UP CM Yogi New Order: अवैध कब्जा करने वालों की अब खैर नहीं, होगी अब सख्त कार्रवाई

विवेकानंद सस्टेनेबिलिटी समिट में मुख्य अतिथि के रूप में  केंद्रीय परिवहन और राजमार्ग मंत्री, नितिन गडकरी शिखर सम्मेलन का उद्घाटन किया साथ ही आदरणीय पूज्य स्वामी चिदानंद सरस्वती अध्यक्ष एवं आध्यात्मिक प्रमुख, परमार्थ निकेतन ऋषिकेश, प्रो. शांतिश्री धूलिपुड़ी पंडित, कुलपति, जेएनयू, नई दिल्ली, पद्म भूषण डॉ. विजय भटकर, कुलपति नालंदा विश्वविद्यालय, पद्म भूषण डॉ. के. राधाकृष्णन, पूर्व अध्यक्ष, इसरो, श्री अर्जुन अग्रवाल, इंडोरमा और  राजेश कुमार पाठक, आईपी और टीएएफएस, सचिव, प्रौद्योगिकी विकास बोर्ड एक साथ सम्मलेन की शोभा बढ़ाने  पहुंचे।

शिखर सम्मलेन  सरकारी, कॉर्पोरेट क्षेत्र, शिक्षाविदों, गैर-सरकारी संगठनों और सिविल सोसाइटी  के प्रमुख गणमान्यों को एक जुट करेगा और  पर्यावरण संकट तथा  शमन रणनीतियों में प्रयासरत्त विभिन्न हितधारकों की भूमिकाओं के बारे में ओपिनयन मेकर्स को जागरूक कर उन्हें प्रभावित करेगा।

Environmental Protection Program: शिखर सम्मेलन को लेकर नितिन गडकरी ने व्यक्त किया उत्साह

Environmental Protection Program
Environmental Protection Program

केंद्रीय परिवहन और राजमार्ग मंत्री, नितिन गडकरी ने विवेकानंद सस्टेनेबिलिटी समिट को लेकर अपना उत्साह व्यक्त किया और कहा,
“हमारे देश में सबसे बड़ी समस्या है चीनी, चावल, मक्का और गेहूं के अधिशेष की। गोदाम में इसे रखने के लिए जगह नहीं है। अगर किसान इसका इस्तेमाल इथेनाल बनाने में करेंगे तो न अनाज की बर्बादी होगी और न प्रदूषण की।

Environmental Protection Program: ”इथेनाल एक हरा और स्वच्छ ईंधन है”- नितिन गडकरी

इसके साथ ही नितिन गडकरी ने आगे कहा कि इथेनाल एक हरा और स्वच्छ ईंधन है। ये इथेनाल गाड़ियों में पेट्रोल या डीजल की जगह पड़ेगा तो हर माह का खर्चा भी कम होगा और देश को प्रदूषण से भी मुक्ति मिलेगा। उन्होंने कहा कि भारत को आवश्यकता आधारित प्रौद्योगिकी अनुसंधान पर कार्य करना चाहिए। जिस राज्य में जो वस्तु उपलब्ध हो उसी राज्य के किसी विश्वविद्यालय में प्राथमिकता से उस वस्तु पर अनुसंधान करना चााहिए और उसकी विभिन्न उपयोगिताएं खोजनी होंगी।”

शिखर सम्मेलन के आयोजक डॉ राजेश सर्वज्ञ ने सस्टेनेबल डेवलपमेंट का नेतृत्व करते हुए बताया कि, “दुनिया में मानव जाति की निरंतरता स्थायी समाधानों पर निर्भर करती है, जिसके लिए बड़े प्रयासों के साथ उच्च आर्थिक व्यय की आवश्यकता होती है ताकि  भविष्य की पीढ़ियों को संयोजित किया जा सके।”

Environmental Protection Program: पद्म विभूषण डॉ रघुनाथ माशेलकर रहे कार्यक्रम में मौजूद

Environmental Protection Program
Environmental Protection Program

भारत के सबसे प्रख्यात वैश्विक वैज्ञानिक,पद्म विभूषण डॉ रघुनाथ माशेलकर ने अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि, “मैं प्रतिष्ठित विवेकानंद सस्टेनेबिलिटी समिट का हिस्सा बनकर बहुत खुसी और गर्व महसूस कर रहा हूं। यह विचार क्रांतिकारी है क्योंकि केवल सस्टेनेबल लिविंग के माध्यम से ही हम एक उज्जवल भविष्य की कल्पना कर सकते हैं। इस शिखर सम्मेलन में सक्रिय रूप से भाग लेने वाले सभी आगंतुकों को मेरा आभार !”

Environmental Protection Program: टाटा ग्रुप के चीफ सस्टेनेबिलिटी ऑफिसर सिद्धार्थ शर्मा ने व्यक्त किए अपने विचार

टाटा ग्रुप के चीफ सस्टेनेबिलिटी ऑफिसर सिद्धार्थ शर्मा ने बताया कि, “मुझे सस्टेनेबिलिटी के सामाजिक आयामों पर विवेकानंद शिखर सम्मेलन में बोलते हुए काफी खुशी हो रही है। टाटा में हमारे लिए सस्टेनेबिलिटी हमारे संस्थापक जमशेदजी टाटा के दृष्टिकोण के अनुसार एक कोर वैल्यू है। यह हमारे समुदायों, हमारे कर्मचारियों और अन्य हितधारकों के लिए हमारी स्थायी प्रतिबद्धता का प्रतिनिधित्व करता है और हम जो कुछ भी करते हैं उसके लिए एक केंद्रीय बिंदु  है”

Environmental Protection Program: सिम्फनी,आर्क वेंचर्स, ग्लोबल इंटरफेथ वॉश एलायंस और एनाम एसेट मैनेजमेंट का है समर्थन

विवेकानंद सस्टेनेबिलिटी समिट के प्रथम संस्करण को सिम्फनी, आर्क वेंचर्स, ग्लोबल इंटरफेथ वॉश एलायंस और एनाम एसेट मैनेजमेंट का भी समर्थन प्राप्त है। दूसरी ओर, जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय शिखर सम्मेलन के लिए यूनिवर्सिटी पार्टनर के रूप में कार्य करेगा, जिसे भारत सरकार के प्रौद्योगिकी विकास बोर्ड का समर्थन प्राप्त है।

खबरों के साथ बने रहने के लिए प्रताप किरण को फेसबुक पर फॉलों करने के लिए यहां क्लिक करें।

Leave A Reply

Your email address will not be published.