Election Commission: भाजपा ने चुनाव आयोग से वोटर्स को पोली बूध पर मोबाइल ले जाने की अनुमति मांगी

0

Election Commission: भारतीय जनता पार्टी ने चुनाव आयोग से आग्रह किया है कि वो वोटरों को मतदान स्थल पर मोबाइल स्विच ऑफ करके रखने की अनुमति प्रदान करें। या फिर हर बूथ (Polling Booth)  पर हेल्प डेस्क या बीएलओ के पास फोन जमा करने की सुविधा प्रदान की जाए। शुक्रवार को भाजपा के प्रदेश महामंत्री और चुनाव प्रबंधन प्रभारी जेपीएस राठौर, चुनाव आयोग संपर्क विभाग के प्रदेश संयोजक अखिलेश अवस्थी और सह संयोजक नितिन माथुर और प्रखर मिश्र ने निर्वाचन आयोग (Election Commission)  से मिल कर पत्र द्वारा शिकायत करके इस संबंध में अलग से दिशा निर्देश जारी करने की मांग की है।

Election Commission

भाजपा के प्रदेश महामंत्री जेपीएस राठौर ने बताया कि पोलिंग बूथ पर तैनात सुरक्षाकर्मी मतदाता को मोबाइल के साथ वोट डालने की अनुमति नहीं देते हैं। दिसकी वजह से मतदाता अगर मोबाइल फोन लेकर आया होता है तो उसको वापस रखने जाना पड़ता है। इससे कई बार ऐसा भी होता है कि मतदाता दुबारा से मतदान करने मतदानस्थल पर नहीं जाता है।

ये भी पढ़ें-Akhilesh yadav in pratapgarh: अखिलेश यादव ने प्रतापगढ़ में बीजेपी को जमकर घेरा, कहा हमारे शतक को देख कर दूसरों की हवा निकल गई

अक्सर ऐसी शिकायतें सुनने को मिलती है। भाजपा के द्वारा चुनाव आयोग को दिए गए पत्र में ये भी कहा गया है कि मतदान स्थल पर मोबाइल फोन जमा करने की कोई सुविधा नहीं होने की वजह से मतदान में काफी बाधा आती है। अक्सर लोग अपने साथ अपना मोबाइल लेकर चलते हैं जिससे उनको मतदानस्थल पर दिक्कतों का सामना करना पड़ता है।

चुनाव आयोग (Election Commission) बूथों पर बनवाता है सेल्फी प्वांइट

योग ने पोलिंग को बढ़ावा देने के लिए बूथों के बाहर सेल्फी प्वाइंट भी बनाए हैं. ऐसे में अगर मोबाइल लेकर आने की अनुमति ही नहीं रहेगी तो आयोग का सेल्फी प्वाइंट बनाना व्यर्थ या अव्यवहारिक रहेगा. इसलिए आयोग से मांग की गई है कि वो वोटरों को पोलिंग बूथ के अंदर स्विच ऑफ करके मोबाइल ले जाने की अनुमति दें या मतदानस्थल पर फोन जमा करने की सुविधा दी जाए।

चुनाव आयोग से (Election Commission) पोलिंग बूथ पर मोबाइल ले जाने की अनुमति मांगी गई

भाजपा प्रतिनिधि मंडल ने कहा कि आयोग ने पोलिंग को बढ़ावा देने के लिए बूथों के बाहर सेल्फी प्वांइट भी बनाएं हैं। अगर ऐसे में वोटरों को साथ में मोबाइल लाने की अनुमति नहीं मिलती है तो सेल्फी प्वांइट बनाने का कोई मतलब ही नहीं बनता है। इसलिए आयोग से मांग की गई है कि वो वोटरों को पोलिंग बूथ के अंदर स्विच ऑफ करके मोबाइल (Mobile Phone) ले जाने की अनुमति दें या मतदानस्थल पर फोन जमा करने की सुविधा दी जाए।

Leave A Reply

Your email address will not be published.