मोदी सरकार की तानाशाही से डरने नहीं, लड़ने की जरूरत

0

नयी दिल्ली,  कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने लोगों का आह्वान किया है कि मोदी सरकार उसके खिलाफ बोलने वालों की आवाज दबाने की कोशिश कर रही है इसलिए उसकी तानाशाही से डरने की बजाय उसके खिलाफ लड़ने की जरूरत है।

राहुल गांधी ने मंगलवार को फेसबुक पर पोस्ट अपने एक संदेश में कहा कि आम जनता कांग्रेस की ताकत है और जिन लोगों को सरकार द्वारा सताया जा रहा है उन्हें खुद को अकेला समझने की जरूरत नहीं है। कांग्रेस उनकी आवाज है और उनके साथ मिलकर उनकी लड़ाई लड़ेगी।
उन्होंने कहा “तानाशाह के हर फ़रमान से जनता की आवाज़ दबाने की हर कोशिश से हमें लड़ना है। आपके लिए, मैं और कांग्रेस पार्टी लड़ते आ रहे हैं, और आगे भी लड़ेंगे। आज देश में किन मुद्दों पर विचार-विमर्श होना चाहिए, ये आप अच्छे से जानते हैं क्योंकि सरकार की हर ग़लत नीति का असर आपके जीवन पर पड़ रहा है।”

राहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस संसद के चालू सत्र में सरकार से जनता के सवालों के जवाब माँगना चाह रही थी लेकिन सबने देखा है कि कैसे सरकार ने विपक्ष के सदस्यों को निलंबित करवाया और जब कांग्रेस ने सरकार की नीतियों का विरोध किया तो उन्हें गिरफ़्तार करवाया गया। सदन स्थगित करवाया गया और कल जब चर्चा हुई भी तो सरकार ने साफ कहा कि ‘महंगाई जैसी कोई समस्या है ही नहीं’!

उन्होंने कहा,“देश बेरोज़गारी की महामारी से जूझ रहा है, करोड़ों परिवारों के पास स्थिर आय का कोई साधन नहीं बचा। लेकिन सरकार सिर्फ़ एक ‘अहंकारी राजा’ की छवि चमकाने में अरबों रुपए फूंक रही है। महंगाई और ‘गब्बर सिंह टैक्स’ आम आदमी की आय पर सीधा प्रहार है। आज की वास्तविकता ये है कि आम इंसान अपने सपनों के लिए नहीं बल्कि दो वक्त की रोटी के लिए संघर्ष कर रहा है।”

राहुल गांधी ने कहा कि सरकार चाहती है कि लोग बिना सवाल किए तानाशाह की हर बात को स्वीकार करें। उन्होंने कहा “मैं आप सबको विश्वास दिलाता हूं, इनसे डरने की और तानाशाही सहने की ज़रुरत नहीं है। ये डरपोक हैं, आपकी ताकत और एकता से डरते हैं, इसलिए उनपर लगातार हमला कर रहे हैं। अगर आप एकजुट हो कर इनका सामना करोगे, तो ये डर जाएँगे। मेरा आपसे वादा है, न हम डरेंगे और न इन्हें डराने देंगे।’

Leave A Reply

Your email address will not be published.