DG UP Police: यूपी के डीजीपी मुकुल गोयल ने संभाला कार्यभार, ‘कानून व्यवस्था को और मजबूत बनाना प्राथमिकता’

0

DG UP Police: यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने तीन अफसरों में से मुकुल गोयल को चुना उत्तर प्रदेश का पुलिस महानिदेश यानी डीजीपी। शुक्रवार को उत्तर प्रदेश के नवनियुक्त पुलिस महानिदेशक (DGP) मुकुल गोयल (Mukul Goel) ने प्रदेश के पुलिस विभाग के मुखिया का कार्यभार संभाल लिया है। कार्यभार संभालते ही उन्होंने कानून व्यवस्था (Law and order) को और मजबूत बनाने की प्राथमिकता जताई है। उन्होंने कहा कि सभी को सुरक्षा का अहसास दिलाना ही पुलिस की प्राथमिकता है। अपराध नियंत्रण जनता की मदद के बिना संभव नहीं है। उन्होंने कहा कि पुलिस को और संवेदनशील बनकर जनता के पास जाना होगा।

ये भी पढ़ें- Uttar Pradesh: योगी सरकार की कैबिनेट ने दी 12 प्रस्तावों को मंजूरी

DG UP Police- ‘छोटे-छोटे अपराधों की अनदेखी बड़ी घटनाओं को जन्म देती हैं’

पत्रकारों से डीजीपी मुख्यालय (DGP Headquarters) में बातचीत के दौरान मुकुल गोयल (Mukul Goyal) ने कहा कि पांच सालों के बाद लखनऊ आया हूं। नए डीजीपी ने कहा कि कई बार छोटे-छोटे अपराधों की अनदेखी बड़ी घटनाओं को जन्म देती है। पुलिसकर्मियों को अधिक संवेदनशील होकर हर छोटी घटना में करवाई का संदेश भी दिया। मैं चाहूंगा कि अधिकारी फील्ड में जाएं और थाना स्तर पर पीड़ितों की सुनवाई और कार्रवाई की समीक्षा करें।

ये भी पढ़ें- Zila Panchayat Chunav 2021 : बहुजन समाज पार्टी नहीं लड़ेगी जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव – मायावती

डीजीपी मुकुल गोयल (DGP Mukul Goyal) ने कहा कि कानून व्यवस्था को बनाए रखना चुनौती है। उन्होंने पुलिसिंग में तकनीकी के और अधिक समावेश पर विशेष जोर देने की बात भी कही। बहुचर्चित बिकरू कांड पर मुकुल गोयल बोले कि कुछ छोटी गलतियों की वजह से इतनी बड़ी घटना हुई थी। कई वर्षों से अपराधियों और कुछ पुलिसकर्मियों के बीच गठजोड़ बना था, जिसे ठीक ढंग से देखा नहीं गया।

DG UP Police: DGP मुकुल गोयल ने की सीएम योगी से आधे घंटे की मुलाकात

इससे पहले शुक्रवार सुबह नवनियुक्त डीजीपी मुकुल गोयल नई दिल्ली से लखनऊ के चौधरी चरण सिंह इंटरनेशनल एयरपोर्ट (Chaudhary Charan Singh International Airport) पहुंचे। वह एयरपोर्ट से सीधे हनुमान सेतु मंदिर पहुंचे। वहां पर दर्शन-पूजन के बाद वह लोक भवन में गए। वहां उन्होंने सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) के साथ करीब आधे घंटे तक मुलाकात की। इसके बाद वह सिग्लेचर बिल्डिंग के लिए रवाना हो गए। 30 जून को सेवानिवृत होने के बाद हितेश चंद्र अवस्थी ने डीजीपी का कार्यभार एडीजी कानून-व्यवस्था प्रशांत कुमार को सौंपा था।

DG UP Police: सीएम द्वारा तीन अफसरों में से मुकुल गोयल चुने गए DGP

उत्तर प्रदेश में पुलिसिंग का लम्बा अनुभव रखने वाले डीजीपी मुकुल गोयल (DGP Mukul Goyal) को इसका लाभ भी मिला। 1987 बैच के आइपीएस अफसर मुकुल गोयल (IPS officer Mukul Goyal) का नाम तीन अफसरों में से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने चुना। मुकुल गोयल हाल ही में बीएसएफ (BSF) में एडीशनल डीजी (Additional DG) थे। उत्तर प्रदेश में वह एडीजी कानून-व्यवस्था के साथ ही कई जिलों में एसएसपी (SSP) तथा एसपी (SP) भी रहे हैं। मुकुल गोयल अब डीजीपी हितेश चंद्र  अवस्थी (DGP Hitesh Awasthi) की जगह लेंगे जो बुधवार को रिटायर हो गए। मुकुल गोयल का कार्यकाल फरवरी 2024 तक है। उत्तर प्रदेश में उनके पास काम करने के लिए अभी करीब ढाई वर्ष का कार्यकाल है।

DG UP Police: कई जिम्मेदार पदों पर पदस्थ रहे मुकुल गोयल

मुकुल गोयल इससे पहले कई जिम्मेदार पदों पर पदस्थ रहे। मुकुल,  मेरठ, गोरखपुर, वाराणसी के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक थे। इसके साथ उन्होंने एसपी आजमगढ़ की भी जिम्मेदारी संभाली। वह कानपुर, ,आगरा और बरेली रेंज के डीआईजी भी रहे। मुकुल बरेली जोन के पुलिस महानिरीक्षक के पद पर भी रहे। मुकुल गोयल उत्तर प्रदेश में अखिलेश यादव की सरकार में एडीजी लॉ एंड ऑर्डर के पद पर रहे। इसके साथ वह आईटीबीपी, बीएसएफ में भी बड़े पदों पर रह चुके हैं। रेलवे, सीबीसीआईडी में भी उन्होंने प्रतिठति पदों पर काम किया।

डीजीपी मुकुल गोयल मूल रूप से उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर के रहने वाले हैं, लेकिन उनका जन्म अल्मोड़ा में हुआ। उन्होंने आईआईटी दिल्ली से इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी की उसके बाद एमबीए किया।

खबरों के साथ बने रहने के लिए प्रताप किरण को फेसबुक पर फॉलों करने के लिए यहां क्लिक करें।

Leave A Reply

Your email address will not be published.