Corona virus: KGMU में कोरोना मरीज मिलने से 65 मेडिकल स्टाफ को क्वारंटाइन किया गया

0

Corona virus: KGMU में कोरोना मरीज मिलने से 65 मेडिकल स्टाफ को क्वारंटाइन किया गया..

Lucknow: उत्तर प्रदेश में कोरोना (Corona virus)के मरीजों की संख्या 500 को पार कर गई है. बीते 24 घंटे में सूबे में कोरोना वायरस (Corona virus) के 75 नए केस सामने आए, जिसके बाद यहां पर अब कुल (Covid-19) मरीजों की संख्या 558 हो गई है. इसमें से 307 मामले दिल्ली https://navbharattimes.indiatimes.com के तबलीगी जमात से जुड़े हैं.

Click Here To Download Arogya Setu Aap

 

वहीं यूपी की राजधानी लखनऊ के किंग जार्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी (KGMU) के ट्रॉमा सेंटर के डाक्टर और अन्य मेडिकल स्टॉफ पर कोरोना (Corona virus) का खतरा मंडरा रहा है। ये सभी लोग यहां पर एक डायबिटीज के मरीज का इलाज करने में लगे थे। मरीज को सांस लेने में दिक्कत हो रही थी। सोमवार सुबह मरीज की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव निकली। इसके बाद सभी के होश उड़ गए। आनन-फानन में चिकित्सक और अन्य मेडिकल स्टॉफ को क्वारंटीन के लिए भेजा गया।

UP में Corona मरीजों की संख्या 500 के पार 

बताया जा रहा है कि इस मरीज को किसी बड़े डॉक्टर की ही सिफारिश पर केजिएमयू में भर्ती किया गया था। कल कोरोना (Corona virus) टेस्ट के लिए इसका सैंपल भेजा गया था। आज जब रिपोर्ट आई तो सभी के होश उड़ गए। जिसके बाद अस्पताल के  65 मेडिकल स्टाफ को क्वारंटीन में भेज दिया गया।

भारत में Corona के मरीज की संख्या 9352 हो गई है

 

केजीएमयू के प्रवक्ता डॉ. संदीप तिवारी ने बताया, संक्रमित मरीज की जानकारी होने के बाद सभी 65 लोगों को क्वारंटीन (Covid-19)के लिए भेजा गया। हालांकि अभी मरीज की पूरी हिस्ट्री मंगाई जा रही है।” उन्होंने बताया कि पूरे विभाग को सेनेटाइज किया गया है।

भारत में 980 मरीज Corona से रिकवर हुए

 

अब तक भारत में कोरोना (Corona virus) के कुल 9352 मामले सामने आ चुके हैं, और कोरोना (Covid-19) की वजह से 324 लोगों की मौत हो चुकी है। राहत की बात है कि 980 मरीज कोरोना रिकवर हो चुके हैं। वहीं प्रधानमंत्री 14 अप्रैल की  सुबह 10 बजे देश को संबोधित करेंगे, प्रधानमंत्री के संबोधन के बाद ही पता चल पाएगा कि 14 अप्रैल को बाद लॉकडाउन बढ़ेगा या नहीं।

और खबरों के लिए यहां क्लिक करें।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: