Corona Vaccine : गर्भवती महिलाएं भी लगवा सकती है कोरोना वैक्सीन, स्वास्थ्य मंत्रालय!

0

Corona Vaccine :  अब गर्भवती महिलाएं भी कोरोना (Covid-19) वैक्सीन लगवा सकती है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने गर्भवती महिलाओँ को कोरोना वैक्सीन लगाने के लिए नई गाइडलाइन जारी की है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि प्रेग्नेंट महिलाओँ के लिए वैक्सीन (Corona Vaccine) एकदम सुरक्षित है। इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (Indian council of medical research) के डायरेक्टर जनरल डॉक्टर बलराम भार्गव ने कहा, “वैक्सीन गर्भवती महिलाओं के लिए उपयोगी है और इसे दिया जाना चाहिए।” वैक्सीनेशन के लिए महिलाएं कोविन पोर्टल (cowin portal) पर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन या वैक्सीनेशन सेंटर (vaccination center) पर जाकर भी रजिस्ट्रेशन करवा सकती हैं।

अब गर्भवती महिलाओं को भी Corona Vaccine लगाया जा सकता है

सरकार (Indian government) लगातार कोरोना वैक्सीन को लेकर लोगों में जागरूकता फैला रही है। स्वास्थ्य मंत्रालय (Ministry of Health) ने गर्भवती महिलाओं को कोरोना वैक्सिनेसन के लिए सलाह दी है कि गर्भवती महिलाएं डिलीवरी के बाद कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) लगवा सकती हैं। सरकार ने साफ कर दिया है कि गर्भवती महिलाएं भी टीका लगवा सकती हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय की गाइडलाइन के अनुसार मुताबिक प्रेग्नेंसी से संक्रमण का खतरा नहीं बढ़ता। ज्यादातर महिलाओं को हल्क लक्षण हो सकते हैं। ऐसे में जरूरी है कि वह कोरोना से बचने के लिए हर जरूरी उपाय करें। इसमें वैक्सीनेशन (covid-19 vaccination) भी शामिल है।

ये भी पढ़ें-

Corona Delta Plus Variant : क्या हैं कोरोना के डेल्टा प्लस वैरिएंट के लक्षण, जाने कैसे बचा जाए डल्टा प्लस वैरिएंट से ?

Zila Panchayat Chunav 2021 : बहुजन समाज पार्टी नहीं लड़ेगी जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव – मायावती

 

स्वास्थ मंत्राालय के अनुसार 90 प्रतिशत महिलाएं अस्पताल जाए बगैर ही ठीक हो जाती हैं। लेकिन कुछ महिलाओँ का स्वास्थ ज्यादा बिगड़ सकता है। इससे पहले ICMR एक स्टडी में सामने आया है कि पहली और दूसरी लहर में बड़ी संख्या में गर्भवती महिलाएं कोरोना (Corona Vaccine) का शिकार हुई हैं। डिलेवरी के बाद भी महिलाओं में संक्रमण का स्तर काफी देखा गया है। पहली लहर में 14 प्रतिशत गर्भवती महिलाओं में कोरोना के लक्षण पाए गए थे। दूसरी लहर में इनकी संख्या में इजाफा हुआ और ये बढ़कर 28.7 प्रतिशत हो गया।

कोरोना का खतरा इन महिलाओँ को ज्यादा हो सकता है।

  • जिन महिलाओँ का मोटापा ज्यादा है।
  • जिनको हाई बल्ड प्रेशर है।
  • जिन महिलाओँ की उम्र 35 साल से अधिक है।
  • जो महिलाएं हेल्थ केयर या फ्रंट लाइन वर्कर हैं।
  • घर में ज्यादा सदस्य होने की वजह से सोशल डिस्टेंसिंग नहीं रख पा रही हों।
  • जो अक्सर घर के बाहर के लोगों के संपर्क में आती हैं।
  • ऐसे इलाकों में रहती हैं जहां कोरोना के मामले बढ़ ज्यादा है।

खबरों के साथ बने रहने के लिए प्रताप किरण को फेसबुक पर फॉलों करने के लिए यहां क्लिक करें।

Leave A Reply

Your email address will not be published.