कुंभ के खर्चे पर सवाल उठाने वाले उदित राज के ट्वीट पर विवाद

कांग्रेस नेता ने कहा कि यह ट्वीट असम के मंत्री हेमंत बिस्वा सर्मा के बयान के प्रतिक्रिया स्वरूप किया गया था, जिसमें कहा गया था कि राज्य सरकार मदरसों में कुरान की शिक्षाओं का खर्च उठा रही हैं, इसलिए बाईबल और भगवत गीता की भी शिक्षा सरकार को देनी चाहिए।

0

नई दिल्ली: कांग्रेस नेता उदित राज ने गुरुवार को कुंभ मेला में सरकार की ओर से खर्च किए जाने वाले पैसे पर सवाल उठा कर विवाद पैदा कर दिया। इस ट्वीट की भारतीय जनता पार्टी  ने भी तीखी आलोचना की।

हालांकि राज ने बाद में स्पष्टीकरण दिया कि यह ट्वीट उन्होंने अपनी निजी क्षमता में किया था। दलित नेता ने कहा, “मैं अपने ट्वीट पर टिका हुआ हूं और बहस के लिए तैयार हूं। आईएनसी को टैग नहीं किया गया था और यह मेरा निजी ट्वीट था।”

ट्वीट में उन्होंने लिखा था, “सरकार की ओर से किसी भी धर्म, धार्मिक गतिविधि का वित्तपोषण नहीं किया जाना चाहिए। राज्य का अपना कोई धर्म नहीं होता है। यूपी सरकार ने इलाहबाद के कुंभ मेला के आयोजन में 4200 करोड़ रुपये खर्च किए और वह भी गलत था।”

कांग्रेस नेता ने कहा कि यह ट्वीट असम के मंत्री हेमंत बिस्वा सर्मा के बयान के प्रतिक्रिया स्वरूप किया गया था, जिसमें कहा गया था कि राज्य सरकार मदरसों में कुरान की शिक्षाओं का खर्च उठा रही हैं, इसलिए बाईबल और भगवत गीता की भी शिक्षा सरकार को देनी चाहिए।

उदित राज के इस ट्वीट पर भाजपा ने प्रियंका गांधी से इस मामले पर जवाब मांग लिया। भाजपा के नेता सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा, “प्रियंका गांधी को जवाब देना चाहिए कि क्या सरकार को कुंभ मेला कराना चाहिए। हमें गर्व है कि हमने कुंभ मेला में खर्च किया और अगला कुंभ मेला इससे भी बड़ा होगा।”

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: