सीएम योगी ने ‘स्वावलंबन केंद्र’ का किया ऑनलाइन शिलान्यास

स्टार्ट-अप की स्थापना करने में होगी सहूलियत

0
लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ( CM Yogi Adityanath) ने सोमवार को अपने सरकारी आवास पर सिडबी के ‘स्वावलंबन केंद्र’ (SIDBI’s ‘Self Reliance Center’) का ऑनलाइन शिलान्यास (Online foundation stone) किया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सिडबी के नए भवन के निर्मित हो जाने से प्रदेश में MSME सेक्टर से जुड़े कार्यक्रमों को आगे बढ़ाने और स्टार्ट-अप की स्थापना करने में सहूलियतें प्राप्त होंगी, जिससे प्रदेश के अंदर एक नई कार्य संस्कृति देखने को मिलेगी।

‘स्वावलंबन केंद्र’ का डिस्प्ले मॉडल देखकर योगी ने विश्वास व्यक्त किया कि यह बिल्डिंग ग्रीन बिल्डिंग के रूप में विकसित की जाएगी, जिसमें ऊर्जा, जल, वेस्ट प्रोडक्ट की बचत के साथ-साथ जल की रीसाइकिलिंग और रीचार्जिग की व्यवस्थाएं होंगी। ग्रीन एनर्जी को प्रोत्साहित करने और जल संरक्षण के अभियान को आगे बढ़ाने के लिए तथा एमएसएमई सेक्टर के प्रोत्साहन के लिए यहां जो व्यवस्थाएं की गई हैं, वह अत्यंत महत्वपूर्ण और आज की जरूरत है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि सिडबी द्वारा भारत सरकार के स्टार्ट-अप फंड के निधि प्रबंधन का कार्य किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में स्टार्ट-अप फंड की स्थापना के लिए लगभग 1000 करोड़ रुपये की लागत से जो कार्यवाही शुरू हुई है, इसमें भी सिडबी ने उत्तर प्रदेश के साथ एक एमओयू हस्ताक्षरित किया है। इससे आत्मनिर्भर भारत तथा लोगों को स्वावलंबी बनाने में मदद मिलेगी।
योगी ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा एक अभिनव योजना ओडीओपी योजना लागू की गई है, जो एमएसएमई सेक्टर के लिए गेम चेंजर का काम कर रही है।

उन्होंने कहा कि दुनिया वैश्विक महामारी कोविड-19 से जूझ रही है। ऐसे में स्टार्ट-अप तथा एमएसएमई क्षेत्र उम्मीद की एक नई किरण हैं। इस चुनौतीपूर्ण समय में सपनों को साकार करने तथा अर्थव्यवस्था को और अधिक सु²ढ़ करने में सिडबी की एक बहुत बड़ी भूमिका हो सकती है। योगी ने कहा कि देश की अर्थव्यवस्था में उत्तर प्रदेश के एमएसएमई सेक्टर बहुत बड़ी भूमिका थी।

बता दें कि ‘स्वावलंबन केंद्र’ यहां शहीद पथ पर लगभग 1 एकड़ क्षेत्रफल में निर्मित होगा। इस भवन को ग्रीन बिल्डिंग के रूप में विकसित किया जाएगा। इसके साथ ही, इसमें सौर ऊर्जा का भी उपयोग होगा। इसमें 500 लोगों की क्षमता का मल्टी परपज हॉल भी होगा, जिसका कॉन्फ्रेंस और ऑडिटोरियम के रूप में उपयोग किया जा सकेगा। इसके अलावा, इसमें 50 लोगों की क्षमता के 4 मीटिंग रूम भी होंगे। इसमें लाइब्रेरी व अन्य आधुनिक सुविधाएं भी रहेंगी।

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: