उपमुख्यमंत्री का बेटा बन नौकरी के लिए पैरवी करने वाला ठग गिरफ्तार

निजी सचिव की शंका पर शिकायत दर्ज कराने पर हुई पड़ताल

0
लखनऊ। एटा के ठग राजेश गुप्ता और संविदा कर्मचारी सुशील सिंह को राज्यमंत्री अतुल गर्ग से ठगी करने पर गिरफ्तार कर लिया गया है। निजी सचिव के शक के तहत शिकायत दर्ज कराने पर हुई पड़ताल में मामला सामने आया। हजरतगंज पुलिस ने एटा से किया गिरफ्तार।

आपको बता दें कि एटा के रहने वाले राजेश गुप्ता ने परिवार कल्याण और शिशु कल्याण राज्य मंत्री अतुल गर्ग को फोन कर खुद को उपमुख्यमंत्री का बेटा बताया। उसने सुशील सिंह नाम के एक व्यक्ति की नौकरी स्थाई करने की पैरवी उनसे की।

राज्य मंत्री के निजी सचिव ने यह जानकारी दी इस फोन आने के बाद मंत्री जी ने व्हाट्सएप पर डिटेल भेजने को कहा।युवक ने दोबारा फोन कर व्हाट्सएप पर दिक्कत का हवाला दिया। जिस पर मंत्री ने सचिव को डिटेल नोट करने को कहा।इसके बाद पड़ताल करने पर पता चला कि इस नाम के किसी व्यक्ति का उपमुख्यमंत्री से कोई संबंध नहीं है।

इसके बाद राज्य मंत्री अतुल गर्ग ने कानूनी कार्यवाही के निर्देश दिए। जिसपर हजरतगंज पुलिस ने गुरुवार की दोपहर एटा के चपरी हाउस से राजेश गुप्ता और सुशील सिंह को गिरफ्तार किया।

हजरतगंज एसीपी अभय कुमार मिश्र ने बताया कि 30 जुलाई को चिकित्सा एवं परिवार कल्याण और मातृ एवं शिशु कल्याण विभाग के राज्यमंत्री अतुल गर्ग के बाद एक अनजान नंबर से फोन आया। फोन करने वाले व्यक्ति ने खुद को उपमुख्यमंत्री का बेटा बताया। उसने एटा जिले के स्वास्थ्य विभाग में संविदा कर्मचारी सुशील सिंह को स्थाई करने की पैरवी मंत्री से की। अब दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है।

इस घटना के बाद मंत्री अतुल गर्ग ने अपने सभी सहयोगियों को सतर्क होने के निर्देश दिए हैं।जिससे कि इस तरह की वारदात दोबारा न हो।वहीं इस तरह की ठगी से प्रदेश के सभी मंत्रालय भी चौकन्ने हो गए हैं।इसके अलावा पुलिस भी सावधान हो गई है।

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: