राम मंदिर के नीचे टाइम कैप्सूल दबाए जाने की बात झूठी

काफी दिनों से आकर्षण का केंद्र बना था टाइम कैप्सूल

0
अयोध्या: राम मंदिर  निर्माण को लेकर सबसे अधिक चर्चा का विषय अगर कुछ था तो वह टाइम कैप्सूल की बात थी. लेकिन अब वह अफवाह साबित हुई है। आपको बता दें कि भूमि पूजन के दिन ‌ ताम्रपत्र का एक कैप्सूल 200 फिट नीचे जमीन में दबाए जाने की चर्चा थी। जिसमें की मंदिर का इतिहास अंकित होगा।

इसके साथ शिलान्यास की तारीख, भूमि पूजन, निर्माण की शैली और वस्तुविद् का नाम भी दर्ज होगा और भी तरह-तरह की बातें की गई थी। ट्रस्ट के सदस्य कामेश्वर चौपाल ने कहा था कि ताम्रपत्र को बनाने की जिम्मेदारी दिल्ली की एक कंपनी को सौंपी गई थी। हालांकि

इससे पहले 1989 में भी शिलान्यास के समय गर्भगृह के पास ताम्रपत्र दबाया गया था। उस तामपत्र को हिंदू महासभा के अध्यक्ष अशोक सिंघल ने तैयार करवाया था, लेकिन इन सभी के बीच एक बड़ा बयान चंपत राय जी का आया है। उन्होंने वीडियो के जरिए यह जानकारी मीडिया में साझा की है। उनका कहना है कि ऐसी कोई बात संज्ञान में नहीं आई है। निश्चित रूप से यह अफवाह है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: