यूपी के सभी गांवों में 24 घंटे बिजली आपूर्ति की सुविधा का महाअभियान

UP में 10-10 फीडरों की निगरानी का जिम्मा लें सांसद, विधायक- उर्जा मंत्री

0

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा (Energy Minister Shrikant Sharma) ने सोमवार को कहा कि सभी गांवों को 24 घंटे बिजली आपूर्ति (Power supply) की सुविधा का महाभियान (Campaign) चलाया जा रहा है। इसके लिए सांसदों, विधायकों औप अन्य जनप्रतिनिधियों को भी आगे आना होगा। सांसद और विधायक भी 10-10 फीडरों की निगरानी का जिम्मा लेकर इस अभियान का हिस्सा बनें।

24 घंटे बिजली आपूर्ति का संकल्प

श्रीकांत शर्मा सोमवार को लखनऊ, कानपुर, झांसी और चित्रकूट मंडल के जनपदों की विद्युत आपूर्ति की वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने कहा कि हर जनपद में ऊर्जा विभाग ने 60-60 फीडर निगरानी के लिए चुने हैं, सांसद और विधायक भी 10-10 फीडरों की निगरानी का जिम्मा लेकर इस अभियान का हिस्सा बनें, जिससे 24 घंटे बिजली आपूर्ति के संकल्प को पूरा किया जा सके।

गलत रीडिंग और बिलिंग की जांच के निर्देश

उन्होंने गलत रीडिंग पर बिलिंग की शिकायतों और इस तरह के सभी मामलों की जांच के निर्देश दिए और यह भी कहा कि ऐसे सभी जनपदों जहां शटडाउन के कारण आपूर्ति प्रभावित हुई हो, वहां अतिरिक्त समय में बिजली देकर रोस्टर का अनुपालन कराएं। शासन की मंशा के अनुरूप ही बिजली की आपूर्ति की जाए।

मंत्री ने कहा कि इसके लिए लाइन लॉस को 15 प्रतिशत से नीचे लाना होगा। उन्होंने लखनऊ, सीतापुर, हरदोई, कानपुर देहात, कानपुर, कन्नौज, औरैया, झांसी, चित्रकूट, ललितपुर और बांदा में कुछ स्थानों पर गलत बिलिंग व टेबल बिलिंग की शिकायतों की जांच के निर्देश दिए।

शर्मा ने कहा कि गलत बिलिंग से उपभोक्ताओं में नाराज़गी उत्पन्न होती है और इसका असर विभाग की छवि पर पड़ता है। उन्होंने शिकायतों के आधार पर संबंधित बिलिंग एजेंसियों के खिलाफ FIR और अधिकारियों की जवाबदेही सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।

उर्जा मंत्री ने 3 दिन में मांगी रिपोर्ट

राजधानी समेत आसपास के जनपदों में ट्रिपिंग की शिकायतों पर नाराजगी जताते हुए उन्होंने 48 घंटे में दुरुस्त की जा सकने वाली समस्याओं के तत्काल निस्तारण करने के निर्देश दिए। उन्होंने एमडी मध्यांचल से इस संबंध में तीन दिन में रिपोर्ट तलब की है।

चारों मंडलों में ट्रांसफॉर्मर फुंकने व समय से न बदलने की शिकायतों को गंभीरता से लेने के निर्देश दिए और कहा कि कुछ जनपदों में लापरवाही की शिकायत आई है, वहां पर एमडी जांच करा लें, खासकर झांसी व बांदा मंडल में। कहीं भी दो बार से ज्यादा ट्रांसफॉर्मर जल गया है तो उसकी अलग से जांच करवाकर जवाबदेही तय करने के निर्देश दिए।

सौभाग्य के कार्यों की जांच के निर्देश

उन्होंने लखीमपुर खीरी, हरदोई, रायबरेली, कन्नौज, इटावा, कानपुर देहात, औरैया, फरु खाबाद, चित्रकूट व बांदा में सौभाग्य के कार्यो की शिकायत पर जांच कराने के निर्देश दिए।

ऊर्जा मंत्री ने निर्देश दिया कि लखनऊ, हरदोई, कानपुर व झांसी में इंडस्ट्रियल फीडरों की भी समीक्षा की जाए। आपूर्ति में कहीं भी कोई ढिलाई न बरती जाए। प्रदेश में कहीं भी बिजली की कमी नहीं है।

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: