Kotak 811 account opening online apply zero balance

समान आचार संहिता चाहते थे भीमराव आंबेडकर- बीजेपी महासचिव

दुष्यंत कुमार गौतम का समान आचार संहिता को लेकर बयान ऐसे समय में आया है, जब देश में जोरशोर से सभी धर्मों के लिए समान कानून लागू करने की मांग उठ रही है।

0
नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव और राज्यसभा सांसद दुष्यंत कुमार गौतम ने बड़ा बयान देते हुए कहा है कि डॉ. भीमराव अंबेडकर समान आचार संहिता चाहते थे। डॉ. आंबेडकर महिलाओं की बराबरी का हक चाहते थे। भाजपा के वरिष्ठ नेता ने कांग्रेस पर डॉ. आंबेडकर की उपेक्षा करने का भी आरोप लगाया।

दुष्यंत कुमार गौतम का समान आचार संहिता को लेकर बयान ऐसे समय में आया है, जब देश में जोरशोर से सभी धर्मों के लिए समान कानून लागू करने की मांग उठ रही है। संघ परिवार से जुड़े संगठन भी इस मुद्दे को उठा रहे हैं।

भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव दुष्यंत कुमार गौतम ने मंगलवार को पार्टी मुख्यालय पर प्रेस कांफ्रेंस कर कहा, डॉ भीमराव अंबेडकर जी धारा 370 नहीं चाहते थे, वो समान आचार संहिता चाहते थे, महिलाओं को बराबरी का हक चाहते थे। कांग्रेस डॉ आंबेडकर जी से इतना द्वेष रखती थी कि उन्हें भारत रत्न मिले इसके लिए गैर कांग्रेस सरकार का इंतजार करना पड़ा।

भाजपा के राज्यसभा सांसद ने दलित छात्रों की छात्रवृत्ति में गड़बड़ी रोकने के लिए मोदी सरकार की ओर से उठाए गए डीबीटी जैसे कदम की चर्चा की। उन्होंने कहा, केंद्र में भाजपा सरकार आने से पहले करीब 50 लाख नकली छात्र पकड़े गए थे।

फर्जी नाम पर छात्रवृति ले ली जाती थी और दलितों को इसका लाभ नहीं मिलता था। आज डीबीटी के माध्यम से छात्रों को पूरी छात्रवृति मिलेगी।

दुष्यंत कुमार गौतम ने कहा, अभी पंजाब में जब हमने छात्रवृत्ति दी थी तो 2019 में वो 303.92 करोड़ रुपये थी। 18 दिसंबर को उन्होंने वहां से 248 करोड़ रुपये निकाले। उसमें से 39 करोड़ रुपये की पेमेंट का दस्तावेज वहां अभी तक नहीं मिला है। जिससे साबित होता है कि बहुत बड़ा घोटाला छात्रवृत्ति में किया गया है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: