अनिश्चित काल के लिए बंद हुआ बांकेबिहारी मंदिर, जानिये क्या है वजह

ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन सुविधा शुरू होने के बाद ही मंदिर के द्वार भक्तों के लिए खुलेंगे। मंदिर में ठाकुर जी की पूजा-अर्चना सेवायत करते रहेंगे।

0

मथुरा: लॉकडाउन के बाद से ही बंद ठाकुर बांकेबिहारी मंदिर जब सात महीने बाद खोला गया तो फिर से उसे बंद करने को मजबूर होना पड़ा। और वो भी अनिश्चित काल के लिए। सोमवार यानी कि 19 अक्टूबर से अगले आदेश तक ठाकुर बांकेबिहारी मंदिर के द्वार भक्तों के लिए बंद  रहेंगे।

ये फैसला श्रद्धालुओं की भीड़ के दबाव के चलते मंदिर प्रबंधन ने रविवार को लिया। ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन सुविधा शुरू होने के बाद ही मंदिर के द्वार भक्तों के लिए खुलेंगे। मंदिर में ठाकुर जी की पूजा-अर्चना सेवायत करते रहेंगे।

इसे भी पढ़ें- इस शारदीय नवरात्र में बदल गई मां दुर्गा की सवारी, जानिये क्या है वजह

बता दें कि कोरोना वायरस महामारी के बीते मार्च महीने में लॉकडाउन के दौरान बांकेबिहारी मंदिर को बंद किया गया था। सात महीने मंदिर को भक्तों के लिए 17 अक्टूबर को खोला गया था। एक दिन में चार सौ श्रद्धालुओं के दर्शन करने की व्यवस्था बनाई गई थी, लेकिन पहले ही दिन करीब 20 हजार लोग वृंदावन पहुंचे, जिनमें से ज्यादातर लोगों ने रात तक दर्शन किए। इस दौरान कोविड-19 के दिशा निर्देशों की धज्जियां उड़ गई।

रविवार सुबह से ही मंदिर के बाहर श्रद्धालुओं की आधा किलोमीटर तक लंबी कतार लग गई। श्रद्धालु धूप में परेशान होते दिखाई दिए। बच्चे और वृद्ध काफी परेशान थे। दोपहर में मंदिर ठाकुर श्री बांकेबिहारी महाराज के प्रबंधक मुनीश शर्मा ने मीडिया को मंदिर को 19 अक्तूबर से अगले आदेश तक बंद करने की जानकारी दी।

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: