Apply scholarship 2021 : योगी सरकर ने स्कॉलरशिप के लिए बदले नियम, जानिए स्कॉलरशिप के क्या हैं नए नियम

1
  • Apply scholarship 2021: योगी सरकार (CM Yogi Adityanath) ने उत्तर प्रदेश में छात्रवृत्ति (scholarship) पाने के मामले में छात्रों की हाजिरी के लिए नियम सख्त कर दिए हैं। स्कॉलरशिप और फीस प्रतिपूर्ति के लिए विद्यार्थियों को अब आधार के अनुसार अटेंडेंस से गुजरना होगा। यानी कि अब स्कॉलरशिप के जरिए पढ़ाई करने वाले छात्रों को अनिवार्य रूप से बॉयोमिट्रिक पहचान के माध्यम से अटेंडेंस लगानी होगी। इसके लिए स्कूल और विश्वविद्यालयों समेत सभी संस्थानों को आधार बेस उपस्थिति प्रणाली को लगाना होगा। 75 प्रतिशत अटेंडेंस के बिना छात्रों को स्कॉलरशिप के लिए अपात्र माना जायेगा।

Apply scholarship 2021

 

स्कॉलरशिप (Apply scholarship 2021)के लिए बायोमेट्रिक अटेंडेंस अनिवार्य

योगी सरकार के द्वारा स्कॉलरशिप के लिए नये नियम के अनुसार शिक्षण संस्था को आधार बेस अटेंडेंस (Attendance) को हर महीने प्रमाणित करते हुए छात्रवृत्ति पोर्टल (Scholarship Portal) पर अपलोड करना होगा। समाज कल्याण (Social welfare) के सहायक निदेशक सिद्धार्थ मिश्रा ने बताया कि आधार बेस हाजिरी के लिए प्रक्रिया शुरू हो गई है। एससी-एसटी (SC- ST) नियमावली में इसे शामिल भी किया गया है।

ये भी पढ़ें-UP vidhan sabha election 2022 : चुनाव से पहले किसानों को योगी सरकार का तोहफा

बायोमेट्रिक (Apply scholarship 2021) से 75 प्रतिशत उपस्थिति 

सिद्धार्थ मिश्रा ने बताया की आधार बेस अटेंडेंस (Aadhar Base Attendance) अंगूठे या उंगलियों के निशान, चेहरे की पहचान कॉलेज परिसर में पहुंच कर या कहीं से भी लगाई जा सकेगी। अटेंडेंस का रिकॉर्ड एनआईसी (NIC) में रखे जाने की व्यवस्था बनाई जा रही है। आधार बेस अटेंडेंस सिस्टम संस्थान परिसर में लगाया जाएगा। प्रतिदिन की अटेंडेंस शिक्षण संस्थान जिस बोर्ड, विश्वविद्यालय (University) या एजेंसी से संबद्ध हैं वहां जाएगी। वहां महीने के अंत मे एनआईसी भेजी जाएगी। फिर एनआईसी छात्रों की हाजिरी का डाटा समाज कल्याण को देंगा।

Apply scholarship 2021

अटेंडेंस का (Apply scholarship 2021) रिकॉर्ड एनआईसी में रखा जाएगा

शिक्षण संस्थान अब चाह कर भी अब छात्रों की अटेंडेंस के साथ छेड़छाड़ नहीं कर पाएंगे। छात्रवृत्ति वितरण के दौरान समाज कल्याण हाजिरी का मिलान करेगा अगर किसी छात्र के अटेंडेंस का मिलान नहीं होता है तो उसकी स्कॉलरशिप रोक दी जाएगी। अभी तक संस्थान 75 फीसदी हाजिरी को प्रमाणित करके विभाग को भेज देते थे।

स्कॉलरशिप के बारे में ज्यादा जानकारी के लिए यहां क्लिक करें।

1 Comment
  1. Ashu gautam says

    Thanks sir

Leave A Reply

Your email address will not be published.