कोरोना काल की अच्छी बातों में सोनू सूद सबसे पहले याद आएंगे

अपने जन्मदिन पर सोनू सूद ने दिया प्रवासियों को रोजगार का तोहफा

0
कोरोना वायरस के दौरान जब गरीब सड़कों पर हजारों किलोमीटर पैदल चलने को मजबूर थे तो उनके सामने उम्मीद की रोशनी बनकर आए सोनू सूद। एक ऐसा एक्टर जो ‘दबंग’ फ़िल्म के छेदी सिंह जैसे विलेन की इमेज रखता है, जिसे कई तमिल और तेलुगू फिल्मों के लिए बेस्ट एक्टर इन नेगेटिव रोल जैसे अवार्ड मिल चुके हैं। पर सही मायने में कोई एक्टर हीरो कहलाने के लायक है तो वह सोनू सूद हैं। जो इस कोरोना काल में पूरे देश ने देखा। दशकों बाद भी जब इस कठिन दौर को याद करेंगे तो सकारात्मक बातों में सोनू सूद याद आएंगे।

30 जुलाई 1973 को मोगा, पंजाब में जन्मे सोनू सूद आज अपना 47 वां जन्मदिन मना रहे हैं। सोनू ने अपने जन्मदिन के मौके पर भी प्रवासियों को एक जबरदस्त तोहफा दिया है। सोनू ने सोशल मीडिया पर ऐलान किया है कि वह तीन लाख प्रवासियों को नौकरी दिलाएंगे, जिसमें उन्होंने बताया कि अच्छे वेतन के साथ-साथ PFI और ESI का लाभ भी प्रदान करेंगे। उसी पोस्ट में उन्होंने Amazon, CITI, Trident जैसी सहयोगी कंपनियों को धन्यवाद भी किया, और बाढ़ पीड़ित राज्यों बिहार और असम में यह जल्द से जल्द शुरू करने की बात कही।

सुबह से ही सोशल मीडिया पर सोनू के फैंस और कई सेलिब्रिटीज ट्वीट कर उनको जन्मदिन की शुभकामनाएं दे रहे हैं। तेलुगू, तमिल, कन्नड़, हिंदी इंडस्ट्रीज के कलाकार सोनू के जन्मदिन पर उनकी सराहना कर रहे हैं और उन्हें शुभकामनाएं दे रहे हैं।

सोनू सूद ने इंजीनियरिंग की पढ़ाई के बाद मॉडलिंग में कदम रखा था, फिर उसके बाद फिल्मों में आए सोनू ने अपनी शुरुआत तमिल फिल्म ‘कल्लाझागर’ की थी। बॉलीवुड में उनकी शुरुआत ‘शहीद-ए-आजम फिल्म से हुई थी। सोनू सूद का फिल्मी सफर काफी स्ट्रगल से भरा रहा है। उनको पहचान तो युवा फिल्म से मिली पर 2010 में आई फिल्म ‘दबंग’ ने उनके करियर को एक अलग दिशा दी। आज उनके जन्मदिन पर हम प्रार्थना करते हैं कि गरीबों के मसीहा बनकर आए सोनू सूद हमेशा स्वस्थ रहें।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: